Coir Udyami Loan Scheme: कॉयर यूनिट के सेटअप पर सरकार देगी 10 लाख का लोन, 25% सब्सिडी के साथ,डिटेल जानकर आज ही अप्लाई करें!

Coir Udyami Loan Scheme केंद्रीय सेक्टर की योजना है जो सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा संचालित की जा रही है कॉयर बोर्ड, एमएसएमई मंत्रालय के तहत इस योजना का कार्यान्वयन कर रहा है।

कॉयर उद्यमी योजना किसी भी प्रकार की कॉयर इकाई स्थापित करने में वित्तीय सहायता प्रदान करती है। कॉयर बोर्ड इस योजना में राष्ट्रीय स्तर पर नोडल एजेंसी का रोल प्ले करता है।

कॉयर उद्यमी ऋण योजना एक क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना है जो कि कॉयर इकाई के सेटअप पर अधिकतम 10 लाख रुपये का ऋण प्रदान करती है

परियोजना लागत पर अधिकतम 25% सब्सिडी मिलती है कार्यशील पूंजी पर विचार नहीं किया जाता है

Coir Udyami Loan Scheme महत्वपूर्ण बिंदु

  • उत्पादन, कॉयर प्रसंस्करण और कॉयर उत्पाद में, उन्नत प्रौद्योगिकी का उपयोग करके कॉयर उद्योग को आधुनिक बनाया जाता है
  • योजना द्वारा कॉयर क्षेत्र के श्रमिकों की दक्षता और उत्पादकता को बढ़ाकर उनकी कमाई को बढ़ाया जाता है।
  • कॉयर उद्यमी ऋण योजना के तहत ऋण उपलब्ध कराने वाले बैंक-
  • आरबीआई अधिनियम की दूसरी अनुसूची में सभी सूचीबद्ध अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक
  • सभी क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • सभी सहकारी बैंक जोकी एमएसएमई क्रेडिट गारंटी ट्रस्ट फंड के एमएलआई (मैम्बर लैंडिंग संस्थान) हैं
  • एमएसएमई के साथ ही एससी/एसटी/ओबीसी वित्त एवं विकास निगम भी ऋण प्रदान कर रहा है
  • कॉयर उद्यमी ऋण योजना के तहत वित्तीय सहायता की प्रकृति नीचे दी गई है-
  • लाभार्थी अंशदान-5%(परियोजना लागत का)
  • बैंक क्रेडिट -55%
  • सब्सिडी की दर 40% (परियोजना लागत की)
  • ऋण के लिए अधिकतम 10 लाख तक की परियोजना को स्वीकृत किया जाएगा, जिसमें कार्यशील पूंजी भी शामिल होगी
  • कार्यशील पूंजी परियोजना लागत की 25% से अधिक नहीं होनी चाहिए, सब्सिडी गणना में कार्यशील पूंजी शामिल नहीं की जाएगी।
  • बैंक, आवेदक द्वारा जमा किये गये 5% को समायोजित करके परियोजना लागत का 95% मंजूर देता है और परियोजना सेटअप के लिए आवेदक के योगदान के साथ परियोजना लागत की पूरी राशि की किस्त जारी कर देता है
  • योजना, कॉयर बोर्ड के द्वारा कार्यान्वयन की जाती है कॉयर बोर्ड एमएसएमई मंत्रालय के तहत काम करने वाली एक वैधानिक संस्था है

Swachhta Udyami Loan Scheme

Coir Udyami Loan Scheme पात्रता मानदंड

  • आवेदक को भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • आवेदक की आयु आवेदन के समय 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए
  • कॉयर उद्यमी ऋण योजना में, परियोजना सेटअप के लिए ऋण के लिए कोई आय सीमा नहीं होगी
  • योजना के अंतर्गत ऋण केवल कॉयर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले उत्पाद जैसे कॉयर फाइबर, यार्न और अन्य उत्पादों के उत्पादन से संबंधित परियोजनाओं के सेटअप के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • योजना के तहत ऋण केवल उन व्यक्तियों, कंपनियों, स्वयं सहायता समूहों, गैर सरकारी संगठनों या संस्थानों को दिया जाएगा जो सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860, उत्पादन सहकारी समितियां, संयुक्त देनदारियां समूह, और धर्मार्थ ट्रस्ट के तहत पंजीकृत हैं।
  • ऐसी इकाइयां जिन्हे एक ही उद्देश्य के लिए केंद्र या राज्य सरकार से पहले से ही सब्सिडी मिल रही है वे कॉयर उद्यमी ऋण योजना के लिए पात्र नहीं होंगे
  • विशेष श्रेणी के मामले में सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी किए गए जाति/समुदाय प्रमाण पत्र की प्रमाणित प्रति आवेदन पत्र के साथ संलग्न करनी होगी
  • परियोजना लागत में पूंजीगत व्यय भी शामिल होगा
  • आवेदक द्वारा परियोजना प्रस्ताव में कार्यशील पूंजी की एक साइकिल को शामिल करने का विकल्प होगा कार्यशील पूंजी को सब्सिडी में शमिल नहीं किया जायेगा
  • बैंक, वर्किंग कैपिटल के लिए किसी अनुदान पर विचार किए बिना प्रोजेक्ट अप्रूवल पर विचार करेगा और वर्किंग कैपिटल के लिए लोन दे दिया जाएगा

नमस्ते दोस्तो! मेरा नाम अनिता गुप्ता है, मुझे फाइनेंस से जुड़े विषयों पर लेख द्वारा जानकारी साझा करना अच्छा लगता है जिससे किसी जरूरतमंद को मदद मिल सके, भविष्य में भी हम इस प्रकार के उपयोगी पोस्ट लाते रहेंगे यही हमारा प्रोआईटी न्यूज़ वेबसाइट को बनाने का उद्देश्य है। धन्यवाद!

Leave a Comment