आईआईटी रूड़की से पीएचडी प्रवेश की पूरी जानकारी: विश्व स्तरीय संस्थान से पीएचडी करने का महत्व, मानदंड और योजनाओं की पूरी जानकारी !

0
86
आईआईटी

भारत के आईआईटी रूड़की से पीएचडी करके अपनी प्रतिभा को विश्व स्तर का बनाया जा सकता है पीएचडी (डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी) डिग्री विशिष्ट विषय पर शोध कार्य के लिए दी जाती है।

शोध कार्य मूल तथ्यों पर आधारित होता है, जो उम्मीदवार पीएचडी की डिग्री लेना चाहते हैं उन्हें डिग्री प्रदान करने वाली संस्था के, कठिन मानदंड से गुजरना होता है जिसमें उनकी योग्यता और सही निर्णय लेने की क्षमता को चेक किया जाता है।

अब किसी भी डिग्री कॉलेज में लेक्चरर स्तर की नौकरी के लिए पीएचडी अनिवार्य है, अगर आपके पास किसी मान्यता प्राप्त संस्थान या विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री है तभी आप लेक्चरर पद के लिए पात्र माने जाएंगे।आज की पोस्ट में हम आपको आईआईटी रूड़की से पीएचडी करने की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

Content Table

1.परिचय

i.आईआईटी रूड़की का संक्षिप्त अवलोकन और शैक्षणिक जगत में इसका महत्व

आईआईटी रूड़की इंस्टीट्यूट की भारत के सर्वश्रेष्ठ तकनीकी संस्थान में गिनती की जाती है, आईआईटी रूड़की ने तकनीकी शिक्षा से संबंधित सभी क्षेत्रों में अपना योगदान दिया है।

आईआईटी रूड़की ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी और इंजीनियरिंग से संबंधित शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है इसीलिये आईआईटी रूड़की को शिक्षा और अनुसंधान का ट्रेंड सेटर भी कहा जाता है।

ii.आईआईटी रूड़की जैसे प्रतिष्ठित संस्थान से पीएचडी  करने का महत्व

आईआईटी रूड़की को भारत के चुने हुए विश्वस्तरीय शिक्षा संस्थान में एक माना जाता है।आईआईटी का उच्च तकनीकी और इंजीनियरिंग शिक्षा में महत्वपूर्ण स्थान है।

ग्लोबल मान्यता प्राप्त आईआईटी रूड़की को भारत का सबसे पुराना तकनीकी संस्थान होने का गौरव प्राप्त है, आईआईटी रूड़की से पीएचडी को दुनिया में सम्मान और प्रतिष्ठा प्राप्त है, किसी आईआईटी से पीएचडी करने पर आईआईटी ब्रांड वैल्यू ऐड हो जाती है।

ये वैल्यू एजुकेशन, इंडस्ट्री और रिसर्च फ़ील्ड में, किसी भी संस्थान में रिसर्च जॉब, फैकल्टी पोस्ट या किसी अन्य हाई प्रोफाइल अवसर को प्राप्त करने का सुनहरा मौका दिला सकती है।

आईआईटी रूड़की केवल इंजीनियरिंग की डिग्री नहीं प्रदान करता बल्कि अनुसंधान, वास्तुकला, प्रबंधन विषयों की भी शिक्षा प्रदान करता है। इसे दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तकनीकी संस्थानों में रैंक प्राप्त है. आईआईटी रूड़की सभी विभाग, संस्थान और स्कूलों के लिए पीएचडी डिग्री प्रदान करता है।

आईआईटी रूड़की से पीएचडी करके आप देश के प्रतिष्ठित संस्थानों, यूनिवर्सिटी, कॉलेजों में लेक्चरर पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं या आपका प्लेसमेंट किसी विदेशी विश्वविद्यालय या टॉप-नोच कॉलेज में हो सकता है निर्भर करेगा आपने किस टॉपिक पर रिसर्च की है।

2.आईआईटी रूड़की में अनुसंधान के अवसर तलाशना

i.आईआईटी रूड़की की अनुसंधान सुविधा और बुनियादी ढांचे का अवलोकन

आईआईटी रूड़की की लाइब्रेरी एक समृद्ध लाइब्रेरी है यहां 3,20,000 से अधिक शोध पत्र और दस्तावेज़, वेबसाइट पर होस्ट किए गए सॉफ्टवेयर के रूप में उपलब्ध डेटा बेस, किसी शोधकर्ता के परिणाम पर आधारित दस्तावेज़ के रूप में रखी गई।

थीसिस रिपोर्ट, शोध, विज्ञान, प्रौद्योगिकी पर आधारित ऑडियो वीडियो, विशिष्ट विषय आधारित विशिष्टता का एक विशाल संग्रह है, आईआईटी रूड़की में 8500 से अधिक डिजिटल पत्रिकाएँ भी उपलब्ध हैं।

ii.आईआईटी रूड़की में पीएचडी उम्मीदवारों के लिए उपलब्ध विभिन्न शोध क्षेत्रों पर प्रकाश 

आईआईटी रूड़की का अनुसंधान क्षेत्र काफी विस्तृत है, वर्तमान में आईआईटी रूड़की से नीचे दिये गये विशिष्ट विषयों पर शोध करके पीएचडी डिग्री ली जा सकती है-

”ओजोन परिवर्तनशीलता, चरम अंतरिक्ष मौसम के प्रभाव, मेसोस्फेरिक सोडियम, ऑप्टिकल एरोनॉमी, अंतरिक्ष मौसम, अंतरिक्ष भौतिकी, धातु परत रसायन विज्ञान और वायु चमक का मॉडलिंग, उच्च ऊर्जावान कण वर्षा आदि”।

IIT Roorkee

iii.किसी प्रसिद्ध संस्थान में शोध करने का महत्व

पीएचडी करने के लिए संस्थान या विश्वविद्यालय की शैक्षणिक प्रतिष्ठा अच्छी होनी बहुत जरूरी है, इसलिए पीएचडी करने के लिए विश्वविद्यालय या संस्थान का चयन, उसकी शैक्षणिक प्रतिष्ठा के आधार पर करना चाहिए पीएचडी के लिए सही संस्थान का चयन, शिक्षा की गुणवत्ता, अनुसंधान की संभावनाएं, और भविष्य में कैरियर की संभावनाओं पर प्रभाव डाल सकता है।

अगर आपने आईआईटी रूड़की जैसे किसी प्रतिष्ठित संस्थान से पीएचडी की डिग्री ली है तो ये आपकी शिक्षा गुणवत्ता के आधार पर अन्य शोधकर्ताओं से ऊंचा स्थान दिला सकता है, एक प्रतिष्ठित संस्थान आपकी बुद्धि और गहन ज्ञान का विस्तार करता है।

3.आईआईटी रूड़की पीएचडी कोर्स का उद्देश्य:

आईआईटी रूड़की में पीएचडी कोर्स में प्रवेश के लिए उम्मीदवार आवेदन करते हैं संस्थान का लक्ष्य नीचे दिए गए गुणों को विकसित करना होता है-

  • जिस फ़ील्ड में अनुसंधान किया जा रहा है उसके मूल सिद्धांत और ज्ञान को सेल्फ स्टडी और पाठ्यक्रम के माध्यम से विकसित करना और विषय के प्रति गहरी समझ विकसित करना।
  • पीएचडी उम्मीदवार द्वारा चयन की गई फील्ड में रचनात्मकता, इनोवेशन को बढ़ाना।
  • स्वतंत्र अनुसंधान की क्षमता और कौशल विकसित करना, किसी विशिष्ट समस्या के कारण चुनौतियों का सामना करने की क्षमता विकसित करना और अपने कौशल का मानव जाति के विकास के लिए उपयोग करना।

PHD Programme

  • भारत के विकास के लिए नई संभावनाओं को पहचानने की योग्यता विकसित करना।

आईआईटी रूड़की के शरद ऋतु सेमेस्टर में उम्मीदवार पूर्णकालिक शोध (एफटीआरएस) या अंशकालिक रीसर्च स्कॉलर (पीटीआरएस) या इन सर्विस स्पेशल एक्सट्रेनल रिसर्च स्कॉलर (आईएसएसर्स) श्रेणियों में प्रवेश ले सकते हैं।

4. आईआईटी रूड़की पीएचडी न्यूनतम मानदंड

  • अगर उम्मीदवार (जनरल/ओबीसी) मास्टर डिग्री लेने के बाद पीएचडी करना चाहता है तब  उम्मीदवार का मास्टर डिग्री सीजीपीए 6.0/10 होना चाहिए।
  • उम्मीदवार को राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा जैसे गेट/सीड/जेस्ट/यूजीसी-नेट/सीएसआईआर-नेट क्वालिफाइड होना चाहिए, इसके साथ ही असिस्टेंट प्रोफेसरशिप या राष्ट्रीय स्तर की फेलोशिप पास होना अनिवार्य है।
  •  अगर आवेदक(जनरल/ओबीसी/एसटी) के पास 4 साल की स्नातक डिग्री है तो उम्मीदवार को राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा जैसे गेट/सीड/जेस्ट/यूजीसी-नेट/सीएसआईआर-नेट उत्तीर्ण होना चाहिए, साथ ही असिस्टेंट प्रोफेसरशिप या नेशनल लेवल फेलोशिप धारक होना चाहिए।
  • अगर आवेदक (जनरल/ओबीसी/एससी/एसटी) किसी आईआईटी से पासआउट बैचलर ड्रग्री या मास्टर डिग्री धारक है और आईआईटी रूड़की से पीएचडी करना चाहता है तो ऐसे उम्मीदवार का सीजीपीए 8 या उससे ऊपर होना चाहिए। ऐसे उम्मीदवार के लिए राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा/प्रोफेसरशिप/फ़ेलोशिप की आवश्यकता नहीं होगी।

IIT Roorkee

  • सभी श्रेणी(जनरल/ओबीसी/एससी/एसटी) के एमबीबीएस/बीएचएमएस/बीएएमएस/बीडीएस डिग्री धारक अगर आईआईटी रूड़की के पीएचडी कार्यक्रम में भाग लेना चाहते हैं तो 10 में से 6.0 सीजीपीए प्राप्त करने वाले अभ्यर्थी को टेस्ट/राष्ट्रीय स्तर की फेलोशिप/सहायक प्रोफेसरशिप की आवश्यकता नहीं होगी।
  • भारतीय विश्वविद्यालय या संस्थान से एमडी/एमएस करने वाले उम्मीदवार यदि आईआईटी रूड़की से पीएचडी करना चाहते हैं तो ऐसे उम्मीदवार को सीजीपीए/राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा/राष्ट्रीय स्तर की फेलोशिप योग्यता की आवश्यकता नहीं होगी।
  • ऐसे छात्र जो आईआईटी रूड़की से एम,टेक/एम.एससी/एम.डेस/एम.आर्क
    कोर्स पहले ही कर चुके हैं, उन्हें पीएचडी प्रोग्राम में लेटरल एंट्री दी जाएगी।

i.अंशकालिक रिसर्च स्कॉलर (पीटीआरएस) या सेवा में बाहरी अनुसंधान स्कॉलर (आईएसईआरएस) श्रेणी के लिए मानदंड:

पीएचडी के लिए पंजीकरण करते समय उम्मीदवार के पास सरकारी/अर्ध सरकारी संगठन/सार्वजनिक क्षेत्र/यूजीसी मान्यता प्राप्त संस्थान में, न्यूनतम 2 वर्ष का कार्य अनुभव होना चाहिए तभी आवेदक आईआईटी रूड़की, पीएचडी पाठ्यक्रम के लिए पात्र होंगे।

ii.सकुंतला फेलोशिप योजना (टैलेंट एडवांसनेट के तहत ज्ञान के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए योजना) (पूर्णकालिक पीएचडी कार्यक्रम)

जो महिला उम्मीदवार आईआईटी रूड़की से पीएचडी करना चाहती है उन्हें बी.टेक/बी,आर्क/बी.ई/बी.डेस/सीएफटीआई (केंद्रीय वित्त पोषित तकनीकी संस्थान) की डिग्री न्यूनतम 8.5 सीजीपीए के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए।उन्हें सकुंतला फेलोशिप योजना के तहत पीएचडी पाठ्यक्रम के लिए योग्य माना जाएगा। ऐसे उम्मीदवारों के लिए गेट/सीड/ राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा की आवश्यकता नहीं होगी।

iii.आईआईटी रूड़की गोल्डन गर्ल योजना (पूर्णकालिक पीएचडी कार्यक्रम):

महिला उम्मीदवार के लिए आईआईटी रूड़की पीएचडी में सीधे प्रवेश योजना भी चलाती है इसके लिए महिला उम्मीदवार को किसी भी आईआईटी से प्रथम रैंक धारक (गोल्ड मेडलिस्ट) या एनआईआरएफ (राष्ट्रीय संस्थान रैंकिंग फ्रेमवर्क) में सूचीबद्ध शीर्ष 50 विश्वविद्यालयों/संस्थान में रैंक धारक होना चाहिए। ऐसे उम्मीदवार को नेशनल लेवल टेस्ट क्वालिफाई करने की आवश्यकता नहीं होगी, सीधे प्रवेश दिया जाएगा।

आईआईटी रूड़की

आईआईटी रूड़की  प्रवेश प्रक्रिया 2024 :

आईआईटी रूड़की के पीएचडी कोर्स में प्रवेश के लिए आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा –

  1. आईआईटी रूड़की की आधिकारिक वेबसाइट iitr.ac.in पर विजिट करें।
  2. प्रवेश’ Tab पर क्लिक करके ‘ऑनलाइन आवेदन’ पर क्लिक करें।
  3. प्रवेश पोर्टल ओपन हो जाएगा।
  4. ईमेल आईडी’ और ‘पासवर्ड’ डालकर लॉगिन करें।

admission procedure

5.आवश्यक विवरण भरें।

6.‘पाठ्यक्रम शुल्क’ का भुगतान करें।

7.फॉर्म को ‘जमा’ करें।

5. विश्वस्तरीय इंस्टीट्यूट से पीएचडी करने के लाभ

i.आईआईटी रूड़की से पीएचडी करने का करियर लाभ

छात्र उच्च शिक्षा के लिए आईआईटी रूड़की को प्राथमिकता देते हैं, आईआईटी रूड़की में शीर्ष स्तर पर प्लेसमेंट होता है। पीएचडी जैसे शोध आधारित कार्यक्रम के लिए आईआईटी रूड़की सबसे अच्छा विकल्प है क्योंकिआईआईटी रूड़की शोध के लिए, आवश्यक संसाधन और अनुभव प्रदान करता है।

विश्व स्तरीय संकाय के दिशा-निर्देश और सुझाव के साथ-साथ उम्मीदवार को अपना शोध थीसिस पूरा करने का मौका मिलता है आईआईटी रूड़की का बुनियादी ढांचा विश्व स्तर का है, प्लेसमेंट 100% है।

ii.नेटवर्किंग के अवसर और सहयोग

आईआईटी रूड़की विदेशी देशों के प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों और औद्योगिक कंपनियों के साथ सहयोग स्पर्श में है। ये साझेदारी आम सहयोगी अनुसंधान कार्यक्रम, औद्योगिक सुझाव और कॉमन डिग्री प्रोग्राम के आधार पर होंगे और इसमें संकाय, कर्मचारियों और छात्रों का आदान प्रदान होगा।

डीएसटी (विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग) देश के अंदर और बाहर साझेदारी को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, द्विपक्षीय अनुसंधान कार्यक्रम को डीएसटी अन्य देशों के सामने प्रस्तुत करती है और विशिष्ट परियोजना में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करती है।

  • डीएसटी अफ्रीका पहल

अफ़्रीका भारत शिखर सम्मेलन फोरम III के तहत अफ़्रीकी देशों में भारत सद्भावना को मजबूत करने के लिए डीएसटी द्वारा पहल की गई है।

  • शास्त्री-इंडो कैनेडियन इंस्टीट्यूट

शास्त्री संस्थान के माध्यम से भारत और कनाडा के विश्वविद्यालयों, सांस्कृतिक संगठनों के बीच बुद्धिजीवियों के आदान-प्रदान को सहज बनाना है।

iii.वैश्विक मान्यता एवं प्रतिष्ठा

स्कूलों और विश्वविद्यालयों को उनके प्रदर्शन के अनुसार रैंकिंग दी जाती है, रैंकिंग की जांच उत्कृष्टता संकेतक द्वारा की जाती है।

  • सर्वश्रेष्ठ वैश्विक विश्वविद्यालयों में आईआईटी रूड़की को 896वीं रैंकिंग मिली है।
  • भारत सरकार द्वारा आईआईटी रूड़की को ‘इंस्टीट्यूट ऑफ नेशनल इंपोर्टेंस‘ अवॉर्ड दिया गया है।
  • भारत में आईआईटी रूड़की को टियर-1 संस्थानों में गिना जाता है।
  • क्यूएस विश्व विश्वविद्यालय रैंकिंग की शीर्ष वैश्विक विश्वविद्यालय श्रेणी 2024 के लिए आईआईटी रूड़की को 369वीं रैंक दी गई है।
  • नासा ने बागडोगरा एयरपोर्ट के टर्मिनल बिल्डिंग को डिजाइन करने के लिए आईआईटी रूड़की को जीआरआईएचए ट्रॉफी प्रदान की है।
  • नेशनल इंस्टीट्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) समग्र श्रेणी 2023 के लिए आईआईटी रूड़की को 8वीं रैंक दी गई है।

6.सफल पीएचडी आवेदन के लिए युक्तियाँ

i.एक सशक्त आवेदन पत्र तैयार करने हेतु मार्गदर्शन

आईआईटी रूड़की से पीएचडी प्रोग्राम के लिए शॉर्ट लिस्ट होना कठिन है। अन्य कौशल के साथ आवेदक की मजबूत शैक्षणिक उपलब्धि के अलावा आत्म प्रेरणा, चुनौतियों पर काबू पाने की क्षमता, अनुशासन की भी जांच की जाती है।

आईआईटी रूड़की के पीएचडी कार्यक्रम का लक्ष्य विशिष्ट विषय का गहन ज्ञान और क्षेत्र ज्ञान के लिए आवश्यक रचनात्मकता आवेदक में होनी चाहिए इस ही आधार पर पीएचडी में प्रवेश दिया जाता है।

पीएचडी एप्लिकेशन के लिए महत्वपूर्ण आवश्यकताओं को इंगित किया जा रहा है-

  • जीपीए पीएचडी प्रवेश के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक है
  • शैक्षणिक तैयारी
  • आपका सीवी
  • सिफारिश पत्र
  • विविधता कथन
  • साक्षात्कार
  • पीएचडी के लिए जब आप मानसिक रूप से तैयार हो जाएं तभी अपने सबसे दिलचस्प विषय के साथ आवेदन करें
  • पीएचडी के लिए चयन किये गये विषय का गहन अध्ययन करें
  • विषय से संबंधित संकाय से अंतःक्रिया करें
  • अपनी सबसे महत्वपूर्ण योग्यता को हाइलाइट करें
  • इंटरव्यू के लिए अच्छी तैयारी करें

IITR

ii.पीएचडी साक्षात्कार प्रक्रिया में महारत हासिल करने के लिए सुझाव

  • इंटरव्यू के प्रारंभ में विनम्र भाषा में अभिवंदन करें, अपनी शैक्षणिक पृष्ठभूमि के बारे में बताएं, अपना कार्य अनुभव, विशेषज्ञता, और अपनी शैक्षिक उद्देश्य के बारे में बताएं।
  • पीएचडी इंटरव्यू एक जॉब इंटरव्यू के समान ही महत्वपूर्ण होता है, अच्छे दिखने वाले आउटफिट पहनें साक्षात्कार में एक बिजनेस प्रोफेशनल की तरह आप सूट पहन सकते हैं।
  • पीएचडी साक्षात्कारकर्ता आपकी पृष्ठभूमि के विषय में जानना चाहेंगे इसलिए प्रारंभ में अपना नाम, जन्म स्थान स्कूली शिक्षा और डिग्री की जानकारी दें, वर्तमान में आप क्या कर रहे हैं कोई व्यवसाय या अन्य शैक्षणिक गतिविधि में शामिल हो इसकी जानकारी दें।
  • अपने साथ एप्लिकेशन फॉर्म की 2 फोटोस्टेट कॉपी रखें, प्रस्तावित रिसर्च प्रोजेक्ट में आप अपने आपको कैसे फिट और योग्य पाते हैं इसका तार्किक कारण तैयार कर ले, प्रपोज़ल समर्थन के लिए अगर आपने नोट्स बनाए हैं तो इंटरव्यू के समय अपने साथ रखें।
  • जोभी प्रश्न पूछा जाएगा उसका स्पष्ट और संक्षिप्त उत्तर देंआपका उत्तर शोध विषय में आपकी रुचि, अनुभव, ज्ञान और आपके शैक्षणिक लक्ष्य के आधार पर होना चाहिए।
  • पीएचडी करने की प्रेरणा के बारे में आपसे प्रश्न पूछा जा सकता है तो अपने प्रेरणा स्रोत के बारे में बताएं।
  • इंटरव्यू में आपसे पीएचडी करने के उद्देश्य के बारे में पूछा जा सकता है और आपकी पीएचडी करने की क्षमता के बारे में पूछा जा सकता है, साक्षात्कारकर्ता को बताएं कि आपके पास शोध शीर्षक से संबंधित आवश्यक ज्ञान है।
  • अपने शोध क्षेत्र के बारे में विशेषज्ञों का ज्ञान, अपने अनुसंधान में उपयोग की जाने वाली विधियां और अनुसंधान सहायता के लिए दिए जाने वाले संदर्भों के बारे में जानकारी जानकारी दें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

प्रश्न: आईआईटी रूड़की की पीएचडी के लिए नवीनतम योजना क्या है?

उत्तर: आईआईटी (भारतीय संस्थान रूड़की) ने पीएचडी करने की इच्छुक महिला आवेदकों के लिए एक नई योजना लॉन्च की है, ‘सकुंतला’ नामक नई योजना है जिसमें महिला आवेदकों को केवल साक्षात्कार पास करना होगा पीएचडी में प्रवेश मिल सकेगा।

प्रश्न: आईआईटी रूड़की में पीएचडी में एडमिशन कैसे मिल सकता है?

उत्तर: आईआईटी रूड़की से पीएचडी करने के लिए आपको संस्था द्वारा तय पात्रता मानदंड फुलफिल करना होगा निर्भर करेगा, आपकी आखिरी डिग्री किस क्षेत्र की है और क्या है, अगर आपने बी.टेक किया है तो आपके पास 10 प्वाइंट स्केल पर 7.5 सीपीआई के साथ इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट डिग्री और वैध गेट स्कोर होना चाहिए।

इन्हें भी पढ़े:

एडटेक (शिक्षा प्रौद्योगिकी): रोजगार में बढ़ती भूमिका, सबसे ज्यादा मांग वाले एडटेक क्षेत्र, पूरी जानकारी !

यूजीसी नेट जून सत्र परीक्षा 2024: रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख 19 मई आज ही आवेदन करें जानें परीक्षा से जुड़ी सभी जानकारी!

आपको आईआईटी रूड़की से पीएचडी प्रवेश की पूरी जानकारी पोस्ट में आईआईटी रूड़की पीएचडी प्रवेश से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध कराई गयी है यदि आपको जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसे अपने मित्र मंडली में साझा करें और टिप्पणी करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here