Udyogini Scheme से 3 लाख का लोन कैसे लें : सरकार दे रही महिलाओ के बिजनेस के लिए 50% सब्सिडी आज ही अप्लाई करें!

भारत सरकार महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने की नई योजनाओं को प्राथमिकता देती है हर क्षेत्र में महिलाओ को आगे रखा जा रहा है। केंद्र सरकार ‘शिक्षित महिला विकसित भारत‘ के विचार मॉडल पर कार्य करती है इसी आधार पर Udyogini Scheme के अंतर्गत महिलाओ को व्यवसाय के लिए प्रेरित करने के लिए सरकार 1-3 लाख का लोन दे रही है।

जिस पर अधिकतम 50% सब्सिडी आर्थिक सहायता के रूप में दी जा रही है।अगर आप भी अपना छोटा बिजनेस शुरू करने का सोच रही हैं लेकिन पैसा नहीं है तो ये जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकती है।

आज के इस आर्टिकल में उद्योगिनी योजना से बिजनेस के लिए 3 लाख का लोन लेने की क्या प्रक्रिया है इसकी पूरी जानकारी साझा की जाएगी।

उद्योगिनी योजना के Important Points

  • उद्योगिनी योजना कर्नाटक राज्य सरकार की योजना है इसके अंतर्गत जो महिला अपना पंजीकृत व्यवसाय कर रही है या करना चाहती है वे इस योजना का लाभ ले सकती है।
  • उद्योगिनी योजना के अंतर्गत 3 लाख तक का loan offer किया जाता है। योजना के मानदंड को पूरा करने वाली applicant के लिए ऋण स्वीकृत कर दिया जाता है।
  • उद्योगिनी योजना में 88 स्मॉल scale industries में से किसी एक को चुनकर बिजनेस शुरू किया जा सकता है। जो महिला खेती से जुड़ा बिजनेस करना चाहती है उनको ब्याज मुक्त ऋण प्रदान किया जाता है।
  • उद्योगिनी योजना में सरकारी ऋण के साथ skill development पर भी ध्यान दिया जाता है।
  • आवेदक को business planning, cost, price determination आदि functional skill development activities का प्रशिक्षण भी दिया जाता है।
  • सरकार ने इस योजना के लिए Repayment प्रणाली को आसान बनाया है इसके लिए सामान्य/ओबीसी के लिए 30% सब्सिडी और एससी/एसटी के लिए 50% सब्सिडी रखी गई है।
  • उद्योगिनी योजना का लाभ लेने के लिए किसी गारंटी या गिरवी की जरुरत नहीं होती है।
  • उद्योगिनी योजना ऋण 6% वार्षिक ब्याज पर मिल जाता है, ऋण का Repayment 36 महीने में हो सकता है।
  • इस योजना के लिए बैंक प्रोसेसिंग चार्ज नहीं लेता है।

नई स्वर्णिमा ऋण योजना

उद्योगिनी योजना से 3 लाख का लोन कैसे लें: Eligibility Criteria

उद्योगिनी योजना के अंतर्गत ऋण बिना किसी processing fee के प्रदान किया जा रहा है जो आवेदक इस योजना के मानदंडों को पूरा करते हैं वे इसका लाभ ले पाएंगे। योजना मानदंड नीचे दिए जा रहे हैं-

  • आवेदक कर्नाटक राज्य की मूल निवासी होनी चाहिए
  • आवेदक के व्यवसाय का पंजीकरण होना चाहिए, अगर बिजनेस रजिस्टर्ड नहीं है तब पहले नजदीकी बैंक से संपर्क करके व्यवसाय पंजीकरण कराना होगा
  • आवेदक की उम्र 18 साल से कम और 55 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए
  • आवेदक की पारिवारिक आय 1.5 लाख प्रति वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • विकलांग और विधवा आवेदकों के लिए आय सीमा नहीं रखी गई है
  • आवेदक का क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए
  • Income का स्थिर source और व्यवसाय के लिए solid plan होनी चाहिए।

उद्योगिनी योजना महिला विकास निगम की गाइडलाइन पर चलाई जा रही है योजना को भारत के ग्रामीण और अविकसित क्षेत्र में रहने वाली महिलाओ को आर्थिक सहायता देकर आर्थिक रूप से मज़बूत और आत्मनिर्भर बनने का मौका देने के लिए लाया गया है।

सरकार small और micro industry को देश के विकास के आधार के रूप में देखती है। ऐसे businesses का विकास करने के लिए योजनाओं के द्वारा लोगो को प्रोत्साहित करती है

उद्योगिनी योजना से 3 लाख का लोन कैसे लें: Required Documents

उद्योगिनी योजना का लाभ लेने के लिए नीचे दिये गये महत्वपूर्ण दस्तावेज़ों की आवश्यकता होगी-

  • आय प्रमाण पत्र और जन्म प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड या बीपीएल कार्ड
  • बैंक पास बुक की फोटोस्टेट कॉपी जिस पर बैंक का नाम, खाता नंबर, ifsc कोड, branch का नाम शो हो रहा हो
  • 2 पासपोर्ट साइज फोटो
  • जाति प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर आधार नंबर से लिंक होना चाहिए

PM SVANidhi Loan Scheme

उद्योगिनी योजना के अंतर्गत आने वाले 88 लघु उद्योग (Small Scale Industries)

उद्योगिनी योजना को 88 सूक्ष्म और लघु व्यवसायों में वर्गीकृत किया गया है जिनके नाम नीचे दिए जा रहे हैं आवेदक किसी एक category में व्यवसाय शुरू कर सकते हैं-

  • चूड़ी व्यवसाय, ब्यूटी पार्लर व्यवसाय, चादर और तौलिया व्यवसाय, नोटबुक व्यवसाय
  • चाय और कॉफी व्यवसाय, मसाले व्यवसाय, बॉक्स बनाना, कपड़ा व्यवसाय, पौधा नर्सरी व्यवसाय
  • डेयरी और पोल्ट्री, सूती धागे का निर्माण, सूखी मछली व्यवसाय, डायग्नोस्टिक लैब, ड्राई क्लीनिंग व्यवसाय
  • खाद्य तेल व्यवसाय ,उचित मूल्य की दुकान, ऊर्जा खाद्य व्यवसाय, फैक्स पेपर विनिर्माण, फिस इंस्टाल बिजनेस
  • अगरबत्ती निर्माण, ऑडियो वीडियो कैसेट व्यवसाय, ऊर्जा खाद्य व्यवसाय, बेकरी व्यवसाय
  • केले के कोमल पत्ते का व्यवसाय, आटा चक्की व्यवसाय, फूल व्यवसाय, फुट वियर निर्माण
  • जलाने की लकड़ी का व्यवसाय, उपहार की दुकान, हस्तशिल्प निर्माण व्यवसाय, खुदरा दुकान
  • स्याही निर्माण, आइसक्रीम व्यवसाय, जेम जेली अचार बनाने का व्यवसाय, जूट कालीन का व्यवसाय
  • टाइपिंग और फोटोकॉपी की दुकान, पत्ता उत्पादन व्यवसाय, सामुदायिक पुस्तकालय का व्यवसाय
  • दूध बूथ, मटन स्टॉल व्यवसाय, समाचार पत्र या पत्रिका की दुकान, माचिस निर्माण उद्योग, मिठाई की दुकान
  • एसटीडी/पीसीओ दुकान, नायलॉन निर्माण, पुराने Paper का व्यवसाय, नायलॉन निर्माण, स्टेशनरी की दुकान
  • सिलाई बुनाई कढ़ाई की दुकान,अचल संपत्ति एजेंसी, साड़ी और कढ़ाई का काम, रिबन बनाना

उद्योगिनी योजना से 3 लाख का लोन कैसे लें: Apply Now

उद्योगिनी योजना के अंतर्गत बिजनेस लोन निजी बैंक, सार्वजनिक बैंक और एनबीएफसी बैंक से मिल जाता है

लोन देने वाले बैंको में, बजाज फिनसर्व, पंजाब एंड सिंध बैंक, सारस्वत बैंक, कर्नाटक राज्य महिला विकास निगम शामिल है

उद्योगिनी योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं-

  • जो बैंक इस योजना पर लोन देता है उनकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन पत्र भरें
  • आवश्यक सभी दस्तावेजों की scann copy जिनमें, आय प्रमाण, जन्म प्रमाण, बीपीएल कार्ड, बैंक पास बुक, जाति प्रमाण पत्र शामिल है attach करें
  • फॉर्म को रीचेक करके ‘submit‘ करें
  • बैंक स्टाफ आपके दस्तावेज़ को verify करेगा और आगे फॉरवर्ड करेगा
  • आपके बिज़नेस प्लान को बैंक चेक करेगा और संबंधित दस्तावेज़ verify करेगा
  • सत्यापन के बाद बैंक आपका ऋण approve कर देगा इसके लिए आपके मोबाइल नंबर पर सूचित किया जाएगा
  • उद्योगिनी योजना की ऋण राशि आपके खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी 

उद्योगिनी योजना लोन के लिए आप ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं-

  • इसके लिए आपको योजना के लिए loan प्रदान करने वाले bank branch जाकर आवेदन पत्र भरकर सभी आवश्यक documents attach करें और submit कर दें।
  • बैंक सभी documents को चेक और वेरिफाई करेगा
  • प्रक्रिया पूरी हो जानेपर आपका लोन स्वीकृत हो जाएगा और लोन amount आपके बैंक खाते में क्रेडिट कर दिया जाएगा

Conclusion

उद्योगिनी एक registered ngo है जो महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए काम करती है

उद्योगिनी योजना से micro, small scale व्यवसाय के लिए loan लिया जा सकता है, यह योजना retailer, self employed businessmen के लिए लाभकारी है

FAQ

Q: उद्योगिनी योजना का लाभ क्या है?

A: उद्योगिनी योजना के तहत समाज के हर वर्ग की महिलाओं को कम ब्याज पर ऋण दिया जाता है जिन्हें अपने व्यवसाय के लिए पैसे की आवश्यकता होती है। अगर वे योजना के लिए पात्र होती हैं तो उन्हें 3 लाख का ऋण दिया जाता है।

Q: क्या उद्योगिनी योजना ब्याज मुक्त है?

A: उद्योगिनी योजना के अंतर्गत यदि आवेदक कृषि क्षेत्र में business के लिए आवेदन करता है तो उसको ब्याज मुक्त 3 लाख का लोन मिल जाता है

Q: उद्योगिनी योजना का Intrest Rate क्या है?

A: उद्योगिनी योजना ऋण के लिए बैंकों का ब्याज दर अलग-अलग है, ऋण 6% ब्याज दर पर मिल जाता है

जो 36 महीने में repayment करना होता है जिसमें 6 महीने का moratorium period(EMI ब्रेक) रहता है

नमस्ते दोस्तो! मेरा नाम अनिता गुप्ता है, मुझे फाइनेंस से जुड़े विषयों पर लेख द्वारा जानकारी साझा करना अच्छा लगता है जिससे किसी जरूरतमंद को मदद मिल सके, भविष्य में भी हम इस प्रकार के उपयोगी पोस्ट लाते रहेंगे यही हमारा प्रोआईटी न्यूज़ वेबसाइट को बनाने का उद्देश्य है। धन्यवाद!

Leave a Comment