यूजीसी नेट जून सत्र परीक्षा 2024: रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख 19 मई आज ही आवेदन करें जानें परीक्षा से जुड़ी सभी जानकारी!

0
24
यूजीसी

यूजीसी नेट जून सत्र 2024 के लिए पंजीकरण खुला है, यूजीसी नेट पंजीकरण की अंतिम तिथि 19 मई है। अगर आप किसी विश्वविद्यालय या डिग्री कॉलेज में लेक्चररशिप या रिसर्च फेलोशिप के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको यूजीसी नेट परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। आज के इस पोस्ट में भारत की सबसे कठिन परीक्षा से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी साझा करेंगे।

Content Table

1.परिचय

i.यूजीसी नेट परीक्षा की परिभाषा

यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट देश का सबसे बड़ा टेस्ट है जो कि साल में 2 बार ऑर्गनाइज होता है। एग्जाम लेक्चररशिप और जूनियर रिसर्च फेलोशिप पोस्ट के लिए कैंडिडेट की योग्यता को जांचने के लिएआयोजित किया जाता है।

ii.शिक्षा जगत में यूजीसी नेट का महत्व

एनटीए यूजीसी नेट परीक्षा एनटीए (राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी) के द्वारा आयोजित की जाती है यह परीक्षा सहायक प्रोफेसर की भर्ती और जूनियर रिसर्च फेलोशिप प्रदान करने के लिए आयोजित की जाती है यूजीसी नेट का महत्व केवल यहीं तक सीमित नहीं है इस परीक्षा को क्लियर करने करने वाले उम्मीदवारों को और भी कई मौके मिलते हैं।

यूजीसी क्वालिफाई करने के बाद भारत के किसी भी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में एक सहायक प्रोफेसर के रूप में शिक्षण प्रोफेशन को चुना जा सकता है। यूजीसी नेट पास करने के बाद अधिकतर उम्मीदवार टीचिंग लाइन में ही शामिल होना पसंद करते हैं।

2.यूजीसी नेट परीक्षा क्या है

i.इतिहास और पृष्ठभूमि

यूजीसी नेट परीक्षा का 2018 से एनटीए के द्वारा आयोजन किया जा रहा है, 2018 से पहले यूजीसी नेट सीबीएसई के द्वारा आयोजित कराया जाता था।2018 से एनटीए, यूजीसी नेट क्वालिफाई करने वाले उम्मीदवारों के लिए अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर यूजीसी-नेट ई- प्रमाणपत्र और जेआरएफ पुरस्कार पत्र जारी करती है।

ii.यूजीसी नेट परीक्षा का उद्देश्य

यूजीसी नेट परीक्षा 2018 से एनटीए के द्वारा आयोजित की जा रही है ये परीक्षा वर्ष में 2 बार आयोजित की जाती है जून और दिसंबर में, परीक्षा का मुख्य उद्देश्य भारत के विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर की पोस्ट के लिए अभ्यर्थियों की पात्रता को निश्चित करना है।

तथा जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) प्रदान करना है यूजीसी नेट परीक्षा में जेआरएफ क्वालिफाई करने वाले कैंडिडेट फेलोशिप के लिए योग्य हो जाते हैं और वे संबंधित क्षेत्र में अपना शोध जारी रख सकते हैं।

यूजीसी नेट परीक्षा 83 विषयोंमें किसी भी विषय में दी जा सकती है एनटीए भारत में कई परीक्षाओं का संचालन करती है यूजीसी नेट परीक्षा उन ही परीक्षाओं में से एक है यूजीसी नेट एक कंप्यूटर आधारित टेस्ट है लेकिन जून 2024 सत्र के लिए ये ऑफ़लाइन आयोजित होगी।

iii.यूजीसी नेट के लिए पात्रता मानदंड

  • सामान्य अभ्यर्थी/सामान्य आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थीजिन्होने न्यूनतम 55% (बिना पूर्णांकित किये) अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन या यूजीसी से मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या डिग्री कॉलेज या संस्थान से  मानविकी (भाषा सहित) सामाजिक विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान और अनुप्रयोग, इलेक्ट्रॉनिक विज्ञान आदि विषयों के साथ परास्नातक या समकक्ष डिग्री प्राप्त की हो ।
  • जबकी एससी/एसटी/ओबीसी/पीडब्ल्यूडी अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम 50% अंकों के साथ मास्टर्स में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।
  • जेआरएफ (जूनियर रिसर्च फेलोशिप) के लिए उम्मीदवार की उम्र 30 सालसे अधिक नहीं होनी चाहिए, जबकि असिस्टेंट प्रोफेसर पद के लिए उम्र का कोई प्रतिबंध नहीं है।
  • अभ्यर्थी को भारत का नागरिक होना चाहिए।

3.यूजीसी नेट परीक्षा पैटर्न

i.यूजीसी नेट परीक्षा की संरचना

एनटीए द्वारा आयोजित कराए जाने वाले यूजीसी नेट 2024 परीक्षा में 2 पेपर होंगे पेपर-1 और पेपर- 2 दोनों पेपर के प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे पेपर- 1 में 50 प्रश्न और पेपर- 2 में 100 प्रश्न होंगे। सभी प्रश्न प्रयास करना अनिवार्य होगा प्रश्न पत्र को उम्मीदवार को 3 घंटे में हल करना होगा, परीक्षा में निगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

ii.यूजीसी नेट जून सत्र 2024 प्रश्न प्रकार

यूजीसी नेट जून सत्र परीक्षा का 18 जून को आयोजन किया जाएगा। परीक्षा पेपर के सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे, 4 विकल्प में से केवल 1 विकल्प सही होगा। परीक्षा को 2 पेपर में विभाजित किया गया है।

पेपर 1 में उम्मीदवार की शिक्षण और अनुसंधान क्षमता की जांच करने के लिए सामान्य जागरूकता, तर्क क्षमता, पढ़ने की समझ, अन्य विभिन्न सोच से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

यूजीसी नेट पेपर 2 में उम्मीदवार द्वारा चयन किये गये, विशिष्ट विषय पर उम्मीदवार के शैक्षिक पृष्ठभूमि और ज्ञान की जांच से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

iii.यूजीसी नेट जून सत्र 2024 अंकन योजना संक्षेप में

यूजीसी नेट परीक्षा उद्देश्य- विश्वविद्यालय/डिग्री कॉलेजों में सहायक प्रोफेसर पद के लिए/जूनियर रिसर्च फेलोशिप पुरस्कार के लिए उम्मीदवारों की योग्यता की जांच करना।

  • परीक्षा मोड- यूजीसी नेट जून सत्र एनटीए द्वारा ऑफ़लाइन आयोजित किया जाएगा
  • परीक्षा अवधि-180 मिनट(3 घंटे)
  • पेपर 1-50 एमसीक्यू प्रश्न
  • पेपर 2-100 एमसीक्यू प्रश्न
  • प्रश्न अंकन-प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक दिए जाएंगे
  • कोई नकारात्मक अंकन नहीं – गलत उत्तर के लिए अंक काटे नहीं जाएंगे
  • परीक्षा की भाषा – हिंदी और अंग्रेजी
  • परीक्षा के विषय- अभ्यर्थी 83 विषयों में से अपना विषय चयन कर सकते हैं

4.यूजीसी नेट जून सत्र 2024 तैयारी युक्तियाँ

यूजीसी नेट को भारत के सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा में से एक माना जाता है, यूजीसी नेट क्लियर करना इतना आसान नहीं है लेकिन परफेक्ट प्लानिंग, दृढ़ संकल्प, समय प्रबंधन के साथ सेट किए गए टाइम टेबल को फॉलो करके इसे पहले प्रयास में भी क्रैक किया जा सकता है।

यूजीसी नेट की तैयारी के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुझाव

i.यूजीसी नेट सिलेबस की समीक्षा करें

अभ्यर्थी ने यूजीसी नेट परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए मास्टर डिग्री के जिस विषय को चुना है उसके पाठ्यक्रम को सावधानी से पढ़ें, दिए गए अध्याय और विषयों की अपनी तैयारी को जज करें, अंक वितरण के अनुसार महत्वपूर्ण अध्यायों को हाइलाइट करें और उनकी एक अलग सूची तैयार करें, कमजोर विषयों की भी सूची बनाएं सभी विषयों की उनके अंकों के आधार पर प्राथमिकता सेट करें।

ii.समय प्रबंधन रणनीतियाँ

यूजीसी नेट के संबंध में समय प्रबंधन का महत्व

किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए समय प्रबंधन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है समय प्रबंधन बताता है कि विभिन्न गतिविधियाँ आपके मूल्यवान समय को कैसे विभाजित कर सकती हैं। जिससे आप आसानी से अपने काम को बिना ज्यादा प्रयास किये कर सकें और सर्वोत्तम आउटपुट प्राप्त कर सकें।

यूजीसी नेट में 83 विषयों का संयोजन होता है जिसमें अलग-अलग अध्यायों और विषयों को शामिल किया जाता है जिसे केवल सही समय प्रबंधन के साथ तैयार किया जा सकता है, समय प्रबंधन को बेहतर तरीके से लागू किया जा सकता है, पहले आपको विषय के पाठ्यक्रम, अंक वितरण और पेपर के लिए आवंटित समय की जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

जिससे आप अपना टाइम टेबल, विषय का महत्व और अपनी तैयारी के आधार पर सेट कर सकते हैं और सही समय प्रबंधन के साथ परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।

ii.महत्वपूर्ण विषय को प्राथमिकता दें

यूजीसी नेट का सिलेबस काफी विस्तृत है, सबसे पहले अपने विषय के अनुसार सिलेबस की जानकारी लें, महत्वपूर्ण विषय और अध्याय पर अपनी तैयारी का विश्लेषण करें और टाइम टेबल में, विषय का समय और प्राथमिकता सेट करें ऐसा करके आप अपने समय को अच्छे से मैनेज कर पाएंगे।

विषय के अनुसार अध्ययन सामग्री, ऑनलाइन पाठ्यक्रम, मॉक टेस्ट पेपर पिछले वर्ष के पेपर से अभ्यास करके आप अध्याय/विषय का महत्व के अनुसार अपने समय का सर्वोत्तम उपयोग कर सकते हैं।

iii.परफेक्ट स्टडी शेड्यूल बनायें

सही अध्ययन कार्यक्रम आपकी उत्पादकता को बढ़ाने में सहायक होगा, जिस समय आपका ऊर्जा स्तर ऊंचा हो, उस समय को अपने अध्ययन कार्यक्रम में शामिल करे।

प्रत्येक विषय के लिए अलग-अलग समय तय करें, बीच में थोड़ा समय अंतराल रखें, इस प्रकार छोटे अध्ययन अवधि से सभी विषयों को संतुलित समय दिया जा सकेगा और आपको फिक्स टाइम में, अपना सिलेबस पूरा करने में मदद मिलेगी।

iv.छोटे अध्ययन काल को अपनायें

प्रत्येक विषय के लिए 30-45 मिनट का अध्ययन समय निर्धारित करें, जिससे आप विषय पर अधिक ध्यान केंद्रित कर सकेंगे, प्रत्येक विषय का प्रतिदिन का लक्ष्य निर्धारित करें और आवंटित समय में लक्ष्य को पूरा करने का प्रयास करें।

v.अग्रिम अध्ययन तकनीकों को अपनायें

एक निश्चित समय में बेहतर आउटपुट प्राप्त करने के लिए अग्रिम अध्ययन तकनीकों का उपयोग किया जा सकता है जिनमें विषय से संबंधित वीडियो ऑनलाइन ई पुस्तकें हो सकती हैं।

v.स्टडी ब्रेक लें

परीक्षा की तैयारी के समय प्रबंधन के लिए समय प्रबंधन की योजना बनाएं समय अध्ययन के लिए ब्रेक को रखना उतना ही जरूरी है जितना पढ़ाई करना, इससे आपको दिमाग को एकाग्र करने में मदद मिलेगी और याददाश्त भी तेज होगी, शाम के समय कुछ समय गेमिंग के लिए रख सकते हैं या अपनी पसंद के मुताबिक रिफ्रेश करने के लिए एक्टिविटी सेलेक्ट करें।

vi.एडवांस टूल्स का उपयोग करें

कामकाजी उत्पादकता बढ़ाने के लिए आप उन्नत उपकरणों का उपयोग कर सकते हैं अपनी कार्य क्षमता को बढ़ाएं और अपनी प्रगति को ट्रैक करें, मार्केट में ऐसे ऐप्स और टूल्स हैं जिनकी मदद से आप किसी विषय को अलॉट किये गये टाइम को जज कर सकते हैं इसके लिए टाइम ट्रैकिंग ऐप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं।

vii.नियमित पुनरीक्षण करें

नियमित रिवीजन आपको आत्मविश्वास प्रदान करेगा और चैप्टर को कवर करने में भी कम समय लगेगा।

viii.मॉक टेस्ट पेपर और पुराने साल के पेपर से अभ्यास करें

अपनी प्रोग्रेस को चेक करने के लिए मॉक टेस्ट पेपर और पुराने साल के पेपर से प्रैक्टिस करना मददगार रहेगा, इससे कोर्स रिवीजन टाइम कम लगेगा और कॉन्सेप्ट क्लियर होगा।

5.यूजीसी नेट 2024 महत्वपूर्ण तिथियाँ और समय सीमाएँ

एनटीए द्वारा आयोजित यूजीसी नेट जून सत्र परीक्षा 2024 के लिए पंजीकरण की अंतिम तिथि 19 मई 2024 है।

परीक्षा 18 जून 2024 को ऑफलाइन आयोजित  की जाएगी उम्मीदवार एनटीए की आधिकारिक वेबसाइट ugcnet.nta.ac.in पर जाकर अपना पंजीकरण  कर सकते हैं।

19 मई तक रजिस्ट्रेशन कराने वाले उम्मीदवार 20 मई तक परीक्षा शुल्क क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/यूपीआई/नेट बैंकिंग के माध्यम से जमा कर सकते हैं।

6.यूजीसी नेट 2024 परीक्षा अनुसूची

  • यूजीसी नेट का आयोजन- एनटीए (राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा) द्वारा किया जा रहा है
  • पंजीकरण तिथि- 19 मई 2024
  • समय अवधि- 3 घंटे
  • शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि- 20 मई 2024
  • परीक्षा तिथि- 18 जून 2024
  • परीक्षा मोड- ओएमआर(ऑफ़लाइन)
  • परीक्षा शुल्क- सामान्य वर्ग के लिए-1150/-, ओबीसी/सामान्य-ईडब्ल्यूएस अभ्यर्थियों के लिए- 600/-, एससी/एसटी/पीडब्ल्यूडी के लिए- 325/-है

7.आवेदन प्रक्रिया के लिए चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका

यूजीसी नेट के लिए रजिस्ट्रेशन करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें-

  • यूजीसी नेट की आधिकारिक वेबसाइट ugcnet.nta.ac.in पर जाएं
  • होम पेज पर दिए गए ‘यूजीसी नेट जून 2024 लिंक’ पर क्लिक करें
  • नए उम्मीदवार यहां रजिस्टर करें‘ पर क्लिक करें
  • आपको यूजीसी नेट के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना होगा
  • इससे पहले अपना पासवर्ड जनरेट करें और सुरक्षा प्रश्न का चयन करें
  • आपको सिस्टम जेनरेटेड एप्लिकेशन नंबर दिया जाएगा
  • एप्लीकेशन नंबर एंटर करते ही एप्लीकेशन फॉर्म ओपन हो जाएगा आवेदन पत्र भरें
  • सभी आवश्यक विवरण भरें
  • आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें
  • सबमिट‘ पर क्लिक करें
  • पंजीकरण शुल्क जमा करें
  • आपका फॉर्म भर चुका है

8.आवश्यक दस्तावेज़

यूजीसी नेट पंजीकरण के लिए नीचे दिये गये दस्तावेज़ की आवश्यकता होती है-

  • 12वीं बोर्ड, ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन मार्क्स शीट
  • आधार कार्ड/मतदाता पहचान पत्र/
  • ओबीसी/एससी/एसटी/पीडब्ल्यूडी श्रेणी प्रमाण पत्र
  • ईडब्ल्यूएस(आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग) प्रमाण पत्र

9.यूजीसी नेट जून 2024 परीक्षा पाठ्यक्रम

यूजीसी नेट परीक्षा में 2 पेपर होते है पेपर- 1 जनरल पेपर होता है जोकी टीचिंग एंड रिसर्च एप्टीट्यूड पर आधारित होता है पेपर- 1 में विभिन्न विषयों में शिक्षण योग्यता, अनुसंधान नैतिकता, संचार, तार्किक तर्क, सूचना और संचार प्रौद्योगिकी और डेटा व्याख्या शामिल हैं।

यूजीसी नेट के पेपर- 1 में कुल 10 विषय होते हैं और 50 प्रश्न पूछे जाते हैं जबकी पेपर- 2 में 100 प्रश्न आते हैं प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक दिए जाते हैं।

अभ्यर्थी को 83 विषयों में से 1 विषय का चयन करना होता है उम्मीदवार जिस विषय का चयन करता है उसके आधार पर, इस पेपर में अभ्यर्थी के विशिष्ट विषय की डोमिन नॉलेज की जांच की जाती है।

10.यूजीसी नेट जून 2024 परीक्षा सिलेबस

यूजीसी नेट परीक्षा में 2 पेपर होते है दोनों पेपरों का विवरण नीचे दिया जा रहा है-

i.यूजीसी नेट परीक्षा सिलेबस पेपर-1

यूजीसी नेट पेपर-1 टीचिंग रिसर्च और एप्टीट्यूड से संबंधित होता है, ये सामान्य पेपर होता है जो सभी श्रेणियों के लिए अनिवार्य होता है, प्रश्न पत्र में 10 विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं, प्रत्येक प्रश्न का वेटेज 2 अंक का होता है

इस प्रकार कुल 50 प्रश्न होते हैं। पेपर-1 100 अंकों का होता है, प्रत्येक विषय से 5 प्रश्न पूछे जाते हैं। यूजीसी नेट पेपर-1 के 10 विषयों का विवरण नीचे दिया जा रहा है-

  • शिक्षण योग्यता
  • अनुसंधान योग्यता
  • समझ, संचार
  • गणितीय तर्क और योग्यता
  • तार्किक विचार
  • डेटा व्याख्या
  • सूचना और संचार प्रौद्योगिकी
  • लोग विकास और पर्यावरण
  • उच्च शिक्षा प्रणाली

ii.यूजीसी नेट परीक्षा सिलेबस पेपर-2

यूजीसी नेट पेपर-2 में कुल 100 प्रश्न पूछे जाते हैं, जो अभ्यर्थी द्वारा चयन किये गये विषय पर आधारित होते हैं प्रत्येक प्रश्न का वेटेज 2 अंक होता है, नीचे सभी 83 विषयों की विस्तृत जानकारी दी जा रही है-

  • अर्थशास्त्र/ग्रामीण अर्थशास्त्र,सहयोग/जनसांख्यिकी/विकास योजना/विकास अध्ययन/अर्थमिति/अर्थशास्त्र/विकास पारिस्थितिकी/व्यावसायिक अर्थशास्त्र
  • राजनीति विज्ञान, दर्शनशास्त्र, मनोविज्ञान, समाजशास्त्र, इतिहास, मानव विज्ञान, वाणिज्य, शिक्षा, सामाजिक कार्य, रक्षा और रणनीतिक अध्ययन, गृह विज्ञान, लोक प्रशासन, जनसंख्या अध्ययन, संगीत
  • प्रबंधन (व्यवसाय प्रशासन प्रबंधन/विपणन/विपणन प्रबंधन/औद्योगिक संबंध और व्यक्तिगत प्रबंधन/व्यक्तिगत प्रबंधन/वित्तीय प्रबंधन/सहकारी प्रबंधन सहित)
  • मैथिली, बंगाली, हिंदी, कन्नड़, मलयालम, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, तमिल, तेलुगु, उर्दू, अरबी, अंग्रेजी, भाषा विज्ञान, चीनी, डोगरी, नेपाली, मणिपुरी, असमिया, गुजराती, मराठी, फ्रेंच, स्पेनिश, रूसी, फारसी, राजस्थानी, जर्मन, जापानी
  • प्रौढ़ शिक्षा/सतत शिक्षा/एंड्रैगॉजी/अनौपचारिक शिक्षा
  • व्यायाम शिक्षा, अरब संस्कृति और इस्लाम अध्ययन, भारतीय संस्कृति, श्रम-कल्याण/व्यक्तिगत-प्रबंधन/औद्योगिक क्षेत्र संबंध/श्रम तथा सामाजिक कल्याण/ मानवीय संसाधन प्रबंधन
  • कानून,पुस्तकालय और सामाजिक विज्ञान,बौद्ध, जैन, गांधीवादी और शांति अध्ययन, धर्मों का तुलनात्मक अध्ययन, जनसंचार और पत्रकारिता,कला-नृत्य, नृत्य, नाटक और रंगमंच का प्रदर्शन,संग्रहालय विज्ञान और संरक्षण, पुरातत्त्व, अपराध, जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा/साहित्य,लोक साहित्य, तुलनात्मक साहित्य
  • संस्कृत पारंपरिक विषय (सहित) ज्योतिष/सिद्धांत, ज्योतिष नव्य व्याकरण/व्याकरण/मीमांसा/नव्य न्याय/सांख्य योग/तुलनात्मक दर्शन/शुक्ल यजुर्वेद/माधव वेदांत/धर्मशास्त्र/साहित्य/पुराणोतिहास/आगम
  • महिला अध्ययन, दृश्य कला (ड्राइंग और पेंटिंग / मूर्तिकला ग्राफिक्स / एप्लाइड आर्ट / कला का इतिहास सहित),भूगोल,सामाजिक चिकित्सा और सामुदायिक स्वास्थ्य ,फोरेंसिक विज्ञान, पाली/कश्मीरी/कोंकणी, कंप्यूटर विज्ञान और अनुप्रयोग, इलेक्ट्रॉनिक विज्ञान, पर्यावरण विज्ञान
  • अंतर्राष्ट्रीय संबंध/रक्षा/रणनीतिक अध्ययन, पश्चिम एशियाई अध्ययन, दक्षिण पूर्व एशियाई अध्ययन, अफ्रीकी अध्ययन, दक्षिण एशियाई अध्ययन, सोवियत अध्ययन, अमेरिकी अध्ययन सहित अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन सहित राजनीतिक शास्त्र
  • प्राकृत, मानवाधिकार एवं कर्तव्य, पर्यटन प्रशासन एवं प्रबंधन, बोडो, संथाली, योग सिंधी, हिंदू अध्ययन, भारतीय नॉलेज प्रणाली

पूछे जाने वाले प्रश्न:

प्रश्न: यूजीसी नेट 2024 क्वालिफाई करने के लिए कितने प्रयास किए जा सकते हैं?

उत्तर: यूजीसी नेट के लिए प्रयासों का कोई प्रतिबंध नहीं है एनटीए दिशानिर्देश के अनुसार शैक्षिक और आयु मानदंड उम्मीदवार द्वारा पूरा किया जाना चाहिए।

प्रश्न: सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए यूजीसी नेट 2024 के दोनों पेपर के लिए न्यूनतम योग्यता अंक कितने हैं?

उत्तर: सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए दोनों पेपर के लिए न्यूनतम योग्यता अंक 40% है जबकीएससी/एसटी/पीडब्ल्यूडी/ओबीसी नॉन क्रीमी लेयर और ट्रांसजेंडर के लिए दोनों पेपर का कुल योग 35% होना चाहिए।

प्रश्न: क्या यूजीसी नेट क्वालिफाई करना मुश्किल है?

उत्तर: हाँ! यूजीसी नेट पास करना थोड़ा चुनौतीपूर्ण और कठिन है, अगर कोई उम्मीदवार परफेक्ट टाइम टेबल और तैयारी रणनीति के साथ तैयारी करता है तो पहले प्रयास में ही यूजीसी नेट क्लियर करने का मौका बढ़ जाता है, यूजीसी नेट की तैयारी के लिए न्यूनतम 6 महीने का समय लेकर तैयारी शुरू करनी चाहिए यानी अगले दिसंबर सत्र के लिए अभी से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

इन्हें भी पढ़े:

एडटेक (शिक्षा प्रौद्योगिकी): रोजगार में बढ़ती भूमिका, सबसे ज्यादा मांग वाले एडटेक क्षेत्र, पूरी जानकारी !

आपको यूजीसी नेट जून सत्र परीक्षा 2024 पोस्ट में यूजीसी नेट परीक्षा 2024  से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध कराई गयी है यदि आपको जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसे अपने मित्र मंडली में साझा करें और
टिप्पणी करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here